पीएम मोदी ने किया तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान, ओवैसी बोले- CAA कानून भी होगा वापस

192

कृषि कानून वापसी पर AIMIM चीफ असद्दुीन ओवैसी ने कहा, “सरकार ने कृषि क़ानूनों को रद्द करने का फ़ैसला देरी से लिया है. यह किसान आंदोलन और किसानों की सफलता है. चुनाव में जाना था इसलिए केंद्र सरकार ने यह फैसला लिया है. वह दिन भी दूर नहीं है, जब मोदी सरकार CAA का कानून भी वापस लेगी.”

ये किसानों और गरीबों की जीत- लालू यादव

कृषि कानून वापसी पर आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने कहा, “विश्व के सबसे लंबे, शांतिपूर्ण और लोकतांत्रिक किसा

पहले रद्द होते तो नहीं जाती जानें-केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, “आज प्रकाश दिवस पर कितनी बड़ी खुशखबरी मिली. तीनों कानून रद्द. 700 से ज्यादा किसान शहीद हो गए. उनकी शहादत अमर रहेगी. आने वाली पीढ़ियां याद रखेंगी कि किस तरह इस देश के किसानों ने अपनी जान की बाजी लगाकर किसानी और किसानों को बचाया था. मेरे देश के किसानों को मेरा नमन.”

न सत्याग्रह के सफल होने पर बधाई. यह किसानों, मजदूरों, गरीबों और मेहनतकश लोगों की जीत है. यह लोकतंत्र, संविधान और देश की जीत है. पूंजीपरस्त अहंकारी सरकार व उसके मंत्रियों ने किसानों को आतंकवादी, खालिस्तानी, आढ़तिए, मुट्ठी भर लोग, देशद्रोही इत्यादि कहकर देश की एकता और सौहार्द को खंड-खंड कर बहुसंख्यक श्रमशील आबादी में एक अविश्वास पैदा किया.”

हार के डर से लिए फैसला- संजय राउत

पीएम मोदी द्वारा कृषि कानून वापस लेने पर संजय राउत ने कहा “आज सरकार को तीनों कृषि क़ानून वापस लेने पड़े हैं, राजनीति की वजह से यह वापस लिए गए हैं, लेकिन मैं इसका स्वागत करता हूं. पंजाब और उत्तर प्रदेश के चुनाव में हार के डर की वजह से यह कानून वापस लिए हैं, सरकार के ऊपर दबाव था आखिर में किसानों की जीत हुई.”

सत्ता का अभिमान टूटा, किसान संघर्ष जीता- चंद्रशेखर

तीनों कृषि कानून वापस लेने के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर ने कहा, “आगामी चुनावों का डर ही सही लेकिन मोदी सरकार को झुकना पड़ा. सत्ता का अभिमान टूट गया और किसानों का संघर्ष जीत गया. संविधान की जीत हुई है. हालांकि इस जीत के लिए सैकड़ों किसानों ने अपनी शहादत दी है, उन्हें नमन.

किसानों के लिए चौतरफा काम किया

प्रधानमंत्री ने कहा कि मैंने किसानों की परेशानियों को महसूस किया है. जब देश ने मुझे सेवा का अवसर दिया तो हमने कृषि विकास, किसान कल्याण को प्राथमिकता दी. इस सच्चाई से बहुत लोग अनजान हैं कि देश के 100 में 80 किसान छोटे किसान हैं. देश के छोटे किसानों की परेशानियों को दूर करने के लिए हमनें चौतरफा काम किया है.

 

192 thoughts on “पीएम मोदी ने किया तीनों कृषि कानूनों को रद्द करने का ऐलान, ओवैसी बोले- CAA कानून भी होगा वापस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

 “आज मैं आपको, पूरे देश को, ये बताने आया हूं कि हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय लिया है; इस महीने के अंत में शुरू होने जा रहे संसद सत्र में, हम इन तीनों कृषि कानूनों को निरस्त करने की संवैधानिक प्रक्रिया को पूरा कर देंगे”

Fri Nov 19 , 2021
पवित्र गुरु पर्व और करतारपुर साहिब कॉरिडोर के फिर से खुलने पर देश को बधाई दी  “आज मैं आपको, पूरे देश को, ये बताने आया हूं कि हमने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का निर्णय लिया है; इस महीने के अंत में शुरू होने जा रहे संसद सत्र में, […]

Breaking News