डॉ शुभेंदु महतो दोबारा बने झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष

2

जमशेदपुर/सरायकेला: झारखण्ड मुक्ति मोर्चा से पुनः सरायकेला-खरसावां के जिलाध्यक्ष चुने जाने पर डॉ शुभेन्दु महतो ने पार्टी आलाकमान, मंत्री चंपई सोरेन सहित जिले की तमाम जनता का आभार व्यक्त किया है. रविवार को एक प्रेसवार्ता के दौरान डॉ महतो ने कहा कि झारखण्ड मुक्ति मोर्चा माटी की पार्टी है और यह पार्टी झारखण्ड के आदिवासियों और मूलवासियों की भावनाओं का नेतृत्व करती है। पिछले कार्यकाल के दौरान पार्टी के हर छोटे बड़े पदाधिकारियों और नेताओं के साथ ही जनता का भी अभूतपूर्व सहयोग रहा. यही वजह रही कि पार्टी ने विगत विधानसभा आम चुनाव के दौरान जिले की तीनों विधानसभा सीटों पर धमाकेदार जीत दर्ज की। दोबारा जिले की कमान मिलने पर उन्होंने पार्टी आलाकमान का आभार जताया है।उन्होंने कहा कि वो सदैव झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के एक सिपाही के तौर पर निष्ठापूर्वक पद पर रहकर कर्तव्य का निर्वहन किया है और इसी वजह से पार्टी ने उन्हें दोबारा जिले की कमान सौंपी है।
इसके अलावा सूबे के मंत्री सह सरायकेला विधायक चंपई सोरेन को भी धन्यवाद देते हुए कहा कि श्री सोरेन ने हमेशा बड़े भाई की तरह मार्गदर्शन और सहयोग किया है।उन्होंने पार्टी के अन्य पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं और जनता को भी धन्यवाद देते हुए कहा कि कार्यकर्ता पार्टी की रीढ़ होते हैं.सभी का मिलाजुला सहयोग रहा तभी उन्होंने एक सफल कार्यकाल पूर्ण किया. सभी की मेहनत का ही नतीजा रहा कि उनकी अगुवाई में विगत पांच वर्षों में पूरे जिले में झामुमो ने मजबूत और धमाकेदार उपस्थिति दर्ज कराते हुए पार्टी का परचम लहराया. पार्टी की उत्तरोत्तर मजबूती और प्रसार के लिए वे आगे भी निष्ठापूर्वक अपने कर्तव्य का निर्वहन करते रहेंगे।

2 thoughts on “डॉ शुभेंदु महतो दोबारा बने झारखंड मुक्ति मोर्चा के जिला अध्यक्ष

  1. Pingback: nova88

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

खुद कुर्सी खींची, पूर्व पीएम देवगौड़ा को बैठाया और पीएम मोदी ने दे दिया झटके में बड़ा संदेश

Tue Nov 30 , 2021
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीन नए केंद्रीय कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा 19 नवंबर की थी। उसके बाद भी दिल्ली की सीमाओं पर सालभर से डटे आंदोलनकारी किसानों का जत्था घर वापसी को राजी नहीं हुआ। स्वाभाविक है कि पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से पहले किसान संगठनों की […]

Breaking News